पुलिस का कहना उमर खालिद मान चुके हैं कि दिल्ली के दंगे सुनियोजित थे। फोन से मिला 40 जीबी डेटा।

जेएनयू के पूर्व छात्र अध्यक्ष को पुलिस के स्पेशल सेल ने हिरासत में ले लिया है और अब उमर के साथ हुई पुछताछ के बाद कई बातें सामने आ रही है। पुलिस द्वारा दिए गए बयान के अनुसार दिल्ली दंगों में शामिल थे उमर खालिद। इन दंगों में मुख्य भूमिका निभाते हुए उमर खालिद ने बड़े ही सुनियोजित ढंग से इन दंगों को अंजाम दिया है।

credits: Economics times

पुलिस का कहना है कि उन्हें उमर के फ़ोन से दंगों से संबंधित 40 जीबी डाटा मिला है। पुलिस ने उमर खालिद के मोबाइल की फोरेंसिक रिपोर्ट मंगा ली है और उसका विश्लेषण कर रही है। कुछ दिनों पहले दिल्ली पुलिस के स्पेशल सेल ने उमर खालिद को पूर्वी दिल्ली में दंगों की साजिश करने के आरोप में गिरफ्तार किया था। स्पेशल सेल ने उमर खालिद को 11 दिन की हिरासत पर लिया था।

पुलिस के बयानों के मुताबिक उमर खालिद ने पूर्वी दिल्ली में धरना देते समय कई भड़काऊ भाषण दिए जिसके कारण लोगों में बहुत आक्रोश पनप गया था। दिल्ली पुलिस की अपराध शाखा ने हाल ही में जो पूरक आरोपपत्र तैयार किया है, उनमें पिंजरा तोड़ की सदस्यों ने उमर खालिद की साजिश के बारे में काफी खुलासा किया है। पुलिस ने पूरक आरोपपत्र में कहा है कि उमर खालिद व राहुल राय के कहने पर ऐसी जगहों को धरना-प्रर्दशनों के लिए चुना गया, जहां लोगों का आवागमन ज्यादा रहता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

This site uses Akismet to reduce spam. Learn how your comment data is processed.